Breaking News
Home / मऊ / मेङ ही चलने लगी है खेत में , तो कियो न सिकुड़े सीताकुंड

मेङ ही चलने लगी है खेत में , तो कियो न सिकुड़े सीताकुंड

घोसी ( मऊ) |

कभी पश्चिम में राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे तक विस्तरित और उत्तर में नवनिर्मित पुलिस उपाधीक्षक कार्यलय तक फैला सीताकुंड अब इन दिशाओ से काफी सिकुड़ गया है ।इसके किनारे स्थित काली मंदिर और तमाम सत्ती स्थान इसके प्रमाण है ।पर अतिक्रमण के चलते कुंड ही नहीं वरन इन देव स्थानों का भी अस्तित्व समाप्त होता जा रहा है ।इसे मिले मौका और सत्ता का साथ या फिर प्रशासन के सामने थैली खोलने की हिम्मत , व इस कुंड की जमीन पर कब्ज़ा करता गया ।मेङ ही खेत में चलने लगे । और एक को देख एक दूसरे में अतिक्रमण का हौसला जगता रहा और कुंड सिसकता रहा पर सबने मौन रखना ही मुनासिब समझा ।
दरअसल कभी इस कुंड के पश्चिमी छोर पर जलाशय किनारे देवालय की प्राचीन परंपरा के चलते कई सत्ती स्थान व काली मंदिर है । चार दशक पुर्व तक सङक से ही यह तमाम सत्ती स्थान दिखते थे । तब इस कुंड के पश्चिमी छोर पर तहसील एव कोतवाली के सामने वर्ष 1948 में शहीद हुए नौशेरा के शेर ब्रिगेडियर उस्मान के परिजनों को प्रदेश सरकार ने जमीन आवंटित किया ।उक्त जमीन बीते वर्ष तक खाली रही इस पर चाय पान की दुकान करने वाले सहित कुछ अन्य ने कुंड के किनारे तक कब्ज़ा कर लिया और किनारे पर पुरवा एव कूड़ा फेक पाटना प्रारंभ कर दिया ।यहाँ पर बाके व बचन सहित बैसवाड़ा के कुछ नागरिक की पैतृक ज़मीन थी। भवन बना तो फिर भी ईमान पर टिका न रह सका । चार दसक पुर्व वर्तमान काली मंदिर के समीप भी कब्ज़ा का प्रयास हुवा पर भटोली मालिक ( जौनपुर) तत्कालीन सीता के नेत्रत्व में ग्रमीण ने जमकर विरोध ही नहीं किया वरन डट गए । तो मंदिर के समीप अतिक्रमण रुक गया ।
सत्ता में चाहे जो भी दल रहा हो किसी ने आवाज न उठाई हलाकि सत्ता में पहुँचते के पुर्व यही दल बेहद गर्मजोशी से मुददा उठाते रहब।
* ” कहा गुम हो गयी समिति की रिपोर्ट ” : गत वर्ष बहुजन पार्टी के वरिष्ठ नेता जहागीर खान , समाजसेवी अनिल , एव विहिप प्रखंड अध्यक्ष नागेन्द्र मद्धेशिया आदि ने तत्कालीन जिलाधिकारी के समक्ष सीता कुंड पर हो रहे अतिक्रमण को रोके जाने एव पैमाइश कर अतिक्रमण समाप्त करने हेतु प्रत्यावेदन प्रस्तुत किया । जिलाधिकारी ने तत्कालीन उपजिलाधिकारी टीपी वमर के नेत्रत्व में एक समिति गठित कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया ।

About अभय कुमार

Check Also

फिर छेड़खानी के बाद मारपीट, मऊ में सुरक्षित नहीं है लड़कियां?

मऊ:- जनपद में एक बार फिर मारपीट छेड़खानी का मामला सामने आया।   मामला थाना हलधरपुर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *